हर हाजत पूरी करने के लिए आयते करीमा का वजीफा 5/5 (13)

हर हाजत पूरी करने के लिए आयते करीमा का वजीफा

हर हाजत पूरी करने के लिए आयते करीमा का वजीफा – Har Hajat Ke Liye Ayat E Karima Wazifa, Dua, क़ुरान मे हाजत पूरी करने के लिए बहुत तरह के वज़ीफा दिए हुए है, इनमे आयते करीमा का वजीफा सबसे शक्तिशाली है. आज हम आपको मोहब्बत पाने के लिए आयते करीमा का वजीफा, पसंद की शादी के लिए आयते करीमा का वजीफा और शोहर का प्यार के लिए आयते करीमा का वजीफा बताने जा रहे है.

Har Hajat Ke Liye Ayat E Karima Wazifa

आयते करीमा यह आयत बहुत ही बा बरकती आयत है।आपको इस छोटी सी आयत की बरकत से होने वाली हर हाजत को पूरा करने का वजीफा बताने जा रहे हैं।वजीफा बेहद ही आसान है आपको पूरे यकीन के साथ वजीफा करना है।

ईशा की नमाज के बाद आपको वजीफा करना है।वजीफा करने का वक्त ईशा की नमाज के बाद का है और कोई नमाज के बाद आप इस वजीफे को नहीं कर सकते और ईशा की नमाज पढ़ना लाजमी है।सिर्फ ईशा की नमाज पढ़ना ही ज़रूरी नहीं आप हर वजीफे की कामयाबी के लिए और हर हाजत को पूरी करने के लिए पांच वक्त की नमाज पढ़ना बेहद जरूरी है।

हर हाजत पूरी करने के लिए आयते करीमा का वजीफा - Har Hajat Ke Liye Ayat E Karima Wazifa, Dua

हर हाजत पूरी करने के लिए आयते करीमा का वजीफा – Har Hajat Ke Liye Ayat E Karima Wazifa, Dua

नमाज हमारी आधी मुश्किलात को दूर करती है।चलते हैं वजीफे के तरीके की तरह तवजजे होकर आप हर हाजत को पूरा करने के लिए इस वजीफे को गौरतलब करें।यह वजीफा आपको 11 दिन लगातार बिना नागा करें करना है।और औरतों से गुजारिश है कि आप नापाकी की हालत में इस वजीफे को बिल्कुल भी ना करें।

क्योंकि इस वजीफे के लिए पाक साफ बा वजू की हालत में होना लाजमी है।औरतें नापाकी हालत में इस वजीफे को ऐसे ही छोड़ देना है।पार् होने के बाद दोबारा शुरू करें।तीन तीन बार अव्वल आखिर दरूद शरीफ पढ़ना है और 111 मर्तबा आयते करीमा की तिलावत करना है।

अगर आप चाहे तो इस वजीफे को मुसलसल करते रहे आसान वजीफा है।इससे अपनी हर हाजत को पूरा करते रहे।वजीफे के टाइम आपको किसी से भी बात नहीं करना है।

मोहब्बत पाने के लिए आयते करीमा का वजीफा

मोहब्बत पाने के लिए आयते करीमा का वजीफा – Mohabbat Pane Ke Liye Ayat E Karima Ka Wazifa, Taseer, Namaz, महबूब को पाने के लिए आयते करीमा का बेहद ही पावरफुल वजीफा आपके सामने हाजिर है।आप इस आयत का अंदाजा लगा सकते हैं कि जब मछली के पेट में हजरत यूनुस अलैहिस्सलाम फंसे हुए थे जब मछली ने हजरत यूनुस अलैहिस्सलाम को निगल लिया था।

और जब अल्लाह रब्बुल इज्जत हजरत यूनुस अलैहिस्सलाम से राजी हो गए थे।तो अल्लाह ने उन पर यह अल्फाज नाजिल किया।और उनको बा हिफाजत मछली के पेट से बाहर निकाला।इस की तिलावत की फजीलत से।अल्लाह ताला ने हजरत यूनुस अलेह सलाम पर अपने कर्म की बारिश की थी।

कुरान शरीफ में इस आयत को आयते करीमा के नाम से जाना जाता है।आपका मेहबूब आप से रुठा हुआ है या नाराज है या कहीं दूर है या फिर किसी के बहकावे में आ गया तो इस वजीफे से उसकी हर गलतफहमी दूर हो जाएगी बेइंतेहा मोहब्बत पैदा हो जाएगी।

Mohabbat Pane Ke Liye Ayat E Karima Ka Wazifa

वजीफे के दौरान जलाली परहेज जिसको आपको करना है।वजीफा शुरू करने से 3 दिन पहले हर किस्म का गोश्त खाना और अंडा खाना 3 दिन बंद कर दें और 3 दिन वजीफे के बाद 9 दिन आप को मुकम्मल तरह से परहेज करना जरूरी है।वजीफे का वक़्त 12:00 बजे के बाद या 1/2 बजे कर सकते हैं।

क्योंकि जब आप यह वजीफा कर रहे हो।तो कोई आपको देखे ना आप किसी को पूरी तरह से सुकून हो।यहां तक कि आपका फोन भी बंद होना चाहिए। पाक साफ कपड़ा पहने और इत्र लगाए जनमाज पर वजू कर बैठ जाए।किब्ले की तरफ मुंह कर।3/3 बार अव्वल आखिर दरूदे इब्राहिम आयते करीमा 900 बार।महबूब इंशाल्लाह आपके पास दौड़ा चला आएगा।

पसंद की शादी के लिए आयते करीमा का वजीफा

पसंद की शादी के लिए आयते करीमा का वजीफा – Pasand Ki Shadi Ke Liye Ayat E Karima Ka Wazifa, Taseer, Namaz, यह वजीफा पसंद की शादी के मुतलिक हैं।जिससे आपको अपने महबूब को अपना बनाने के लिए करना है।लेकिन इस वजीफे की एक क शर्त है कि आपको किसी भी हालत में इस को गलत मकसद के लिए इस्तेमाल नहीं करना है।

इस वजीफे का इस्तेमाल आपको सिर्फ और सिर्फ नेक और जायज मकसद के लिए करना है।क्योंकि वजीफे का गलत इस्तेमाल किसी बड़े नुकसान का अब्द बन सकता है और हमें गुन्हा में भी शामिल कर सकता है।इसलिए इसको नेक मोहब्बत को हासिल करने के लिए ही करें।

इस वजीफे से महबूब के दिल में मोहब्बत जाग जाएगी और वह शादी करेगा।वजीफे में बहुत ही ताकत है।वजीफा करने से पहले आपका लिबास एकदम पाक साफ होना चाहिए।और इस वजीफे को करने से पहले थोड़ा खुशबू जरूर लगा लें।

Pasand Ki Shadi Ke Liye Ayat E Karima Ka Wazifa

परफ्यूम जरा सा भी ना लगाएं क्योंकि परफ्यूम में अल्कोहल शराब मौजूद रहती है जो नापाक है। वजीफे के लिए किसी साफ पाक जगह पर बैठ जाए।उसके बाद आपको अपना और रुख़ मतलूब के घर की तरफ होना चाहिए।

रात को 2:00 बजे के बाद बा वजू होकर किब्ला रुख़ होकर वजीफा करना है। वजीफे के दरमियान बात करना मना है इसीलिए वजीफे में बात ना करें।महीने के पहले जुमेरात जुम्मा के दरमियान आपको इस वजीफे की शुरुआत करना है।

सबसे पहले आपको 11 /11 अव्वल आखिर दरूदे इब्राहिम पढ़ना है।क्योंकि दरूद इब्राहिमी की बहुत ही फजीलत है उसके बाद आपको आयते करीमा 900 मर्तबा पढ़ना है।इस वजीफे को करते वक्त आपको अपने दिल में अपने हैं का ख्याल रखना है।

शोहर का प्यार के लिए आयते करीमा का वजीफा

शोहर का प्यार के लिए आयते करीमा का वजीफा – Shohar Ke Pyar Ke Liye Ayat E Karima Ka Wazifa, Taseer, Namaz, यह वजीफा ना ही शौहर के प्यार को हासिल करने के लिए हैं बल्कि हर तरह के मसले और मुसीबत को हल करने के लिए यह आयते करीमा बहुत ही बा बरकती है।इस वजीफे की बरकत से आप का मसला कुछ ही दिनों में सही हो जाएगा।

और आपकी हर तरह की मुश्किलें भी जल्द से जल्द आसान हो जाएगी।इस वजीफे को करने से पहले आप को कुछ सदका करना भी बहुत जरूरी है।आपको कुछ सदस्य करते रहना है कुछ पैसे या आपसे जो हो सके वह करें।

आपको पांच वक्त की नमाज पढ़ना हर हालत में लाजमी है।इस वजीफे को करने के लिए आपको किसी की भी इजाजत की कोई जरूरत नहीं है इस वजीफे की इजाजत हर खास और आम इंसान को है।

Shohar Ke Pyar Ke Liye Ayat E Karima Ka Wazifa

इस वजीफे को आप को दो वक्त करना है सुबह और शाम इन दो वक्त में आपको इस वजीफे को मुसलसल करते रहना है।वजीफा करने से पहले 3 बार दरू शरीफ शुरू और आखिर में जरूर से पढ़ लीजिए।दरूदे इब्राहिम याद हो तो पढ़ लीजिए वरना जो भी दरू शरीफ आपको याद हो पढ़ें।

الله صَلّ على مُحنَد وعلى الِ مُحَقَِدِكما صليت على إبراهيم وعلى آل إبراهيم } إنك حميد مجيد الله بارك على محمد على ال مکنَدِگها بارگت على إبراهيم وعلى ال ابراهيم کويد چد

आयते करीमा आपको 313 बार रोजाना सुबह और शाम पढ़नी है पढ़ने के बाद अल्लाह रब्बुल इज्जत से अपने गुनाहों की माफी मांग लीजिए।जो भी मसला है अल्लाह रब्बुल इज़्ज़त के सामने पेश करें।इंशा अल्लाह अल्लाह ताला अपने करम से आपकी परेशानियों को दूर करेंगे

Quran mai Hajat puri karne ke liye bahut prakar ke wazifa diye hue hai per un sab mai ayat e karima ka wazifa sabse jayada takatwar hai.

Mohabbat Pane Ke Liye aap istemaal kare hamara Mohabbat Pane Ke Liye Ayat E Karima Ka Wazifa, Taseer, Namaz.

Pasand Ki Shadi Ke Liye hum aapke liye laye hai Pasand Ki Shadi Ke Liye Ayat E Karima Ka Wazifa, Taseer, Namaz.

Shohar Ke Pyar chahate hai to fir istemaal kare Shohar Ke Pyar Ke Liye Ayat E Karima Ka Wazifa, Taseer, Namaz.

#हर #हाजत #पूरी #करने #के #लिए #आयते #करीमा #का #वजीफा
#मोहब्बत #पाने #पसंद #की #शादी #शोहर #का #प्यार #Har
#Hajat #Ke #Liye #Ayat #E #Karima
#Wazifa #Dua #Mohabbat #Pane #Taseer
#Ayat-E-Karima #Namaz #Pasand #Ki
#Shadi #Shohar #Ke #Pyar

घर में खैरो बरकत के लिए वजीफा

Please rate this